15 Amazing Facts In Hindi About Camel | मरे हुए ऊँट के बॉडी को छूने से क्यों माना किया जाता है ?

15 Amazing facts about camel amazing facts about camels 15 Amazing Facts In Hindi About Camel what are 15 interesting facts about camels amazing facts about camel in Hindi interesting facts about camel animal

15 Amazing Facts In Hindi About Camel : दोस्तों आप में से ज्यादातर लोग एक ऊंट के बारे में क्या-क्या जानते हैं, सिर्फ यही न की ऊंट एक भरोसे मन जानवर है, जो सामान उठाने और सफर करवाने में इंसानों के बहुत काम आता है |  उनकी सबसे बड़ी  खासियत उनके पैर है जिसे भगवान ने खास रेत पर चलने के लिए बनाए हैं |और आप ऊँट के बारे में यह तो जरूर जानते होंगे कि ऊँट एक ऐसा जानवर है, जो एक बार में 21 लीटर पानी पी जाता है |  मगर आज हम आपको ऊँट बारे में ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जो इससे पहले आपने ना तो कभी सुनी होंगी और ना ही कभी सोचा होगा | तो  क्या आपको पता है जब भी कोई ऊँट मर जाता है तो हमें उसकी बॉडी को छूने से क्यों मना किया जाता है| क्यों ऐसा कहा जाता है कि मरे हुए ऊँट के बॉडी को छूने से बहुत बड़ा हादसा हो सकता है | आप कभी सोच भी नहीं सकते कि वही ऊँट जो जिंदगी भर इतना मासूम रहा, आज मरने के बाद उसकी हालत ऐसी कैसे हो गयी | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि आखिर क्यों हमें ऊंट की लाश को छूने से मना किया जाता है और आखिर  मरने के बाद ऊंट के साथ क्या होता है तो हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़िएगा |  क्योंकि हम आपको ऊँट से जुड़े हुए कई फैक्ट्स बताने जा रहे हैं | जिसे पढ़कर ऊँट के लिए आपका नजरिया हमेशा के लिए बदलने वाला है | 

उसके लिए हम सबसे पहले आप सभी से कुछ सवाल करना चाहेंगे | क्या आपने कभी सोचा है रेगिस्तान की गर्मी में पानी के बिना जहां कोई भी जानवर जिंदा नहीं रह पाता वहाँ ये ऊंट कैसे अपना गुजारा करते हैं और सिर्फ गुजारा ही नहीं हम इंसानों के लिए एक वरदान की तरह काम भी करते हैं दोस्तों आप ऊंट को भगवान का दिया हुआ वरदान ही समझे तो काफी है क्योंकि भगवान ने उनमें ऐसे फीचर्स दिए हैं जो दुनिया के किसी और प्राणी में नहीं होते | 

अंतरिक्ष में गई महिला, जो वापस कभी पृथ्वी पर लौटी ही नहीं?

एक ऊंट कई दिनों तक बिना पानी के जिन्दा रह सकता है | वो सिर्फ पानी ही नहीं बिना खाए भी कई दिनों तक अच्छे से काम कर सकते हैं | दोस्त आपने देखा होगा कि ऊंट की पीठ ऊंची होती है जिसे हम ऊंट के कूबड़ भी कहते हैं कई लोग उसे ऊंट की ईमान भी कहते हैं | दोस्तों हमें बताया जाता है की ऊंट के कूबड़ में सारा पानी स्टोर हो जाता है  जो ऊंट एक ही बार में पी जाते हैं |  मगर असलियत कुछ और ही है जो आपको इस पोस्ट में खुद ही समझ आ जाएगा | बस अंत तक पोस्ट को जरूर पढियेगा | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

ऊंट के कूबड़ में क्या होता है ? 

ऊंट का कूबड़ फैट और पानी का स्टोर है जब भी रेगिस्तान में मवेशियों को पानी नहीं मिलता जब ऊंट के पास पीने के लिए कोई पानी नहीं बचता तब वो स्टोर फैट और पानी खुदबखुद उन्हें एनर्जी देने लगते हैं फैट  पिघलकर एनर्जी बन जाती है जो ऊंट को काम करने की क्षमता देती है यही वजह है की कड़क धुप में भी वो नरंतर काम करते रहते हैं | और कभी अपने मालिक को निराश नहीं करते हैं | 

मरे हुए ऊँट के बॉडी को छूने से क्यों मना किया जाता है?

15 Amazing Facts In Hindi About Camel
Died Camel

दोस्तों ये तो हो गयी इनकी खासियतों के बारे में और सबसे बड़ी बात है कि इनकी यही खासियत मरने के बाद उन्हें बम में तब्दील कर देती है हाँ दोस्तों मैं ने इस पोस्ट के शुरुआत में बताया हूँ कि ऊंट को मरने के बाद छूने से माना किया जाता है अब उसका कारण आपके सामने लाने जा रहा हूँ | दोस्तों जब भी कोई ऊंट मरता है तो उसकी लाश कई दिनों तक वैसी ही पड़ी रहती है | तब उसके बड़ी के भीतर बहुत कुछ हो रहा  होता है दोस्तों ये तो हम जानते है कि मरने के बाद किसी के बॉडी पर माइक्रोऑर्गेनिजम लग जाता है जो धीरे धीरे उसे डिकम्पोज कर देते है उसी तरह से जब एक ऊंट मरता है तब उसके कूबड़ में मौजूद फैट पानी से मिलकर रिएक्ट करने लगती है और एक भयानक एसिड और गैस में तब्दील हो जाती है जैसे की मीथेन गैस | और ऐसे एक्टिव रिएक्शन में पेट के अंदर बैक्टीरिया और माइक्रो ऑर्गनिज़म एक्टिव हो जाते है और उसे अंदर ही अंदर बड़े विस्फोट के लिए तैयार कर देते हैं और दोस्तों ऐसे हालत में जब भी कोई बहार की एक्टिविटी उसे इफ़ेक्ट करती है तो वह विस्फोट हो जाता है | अगर आप उस बॉडी को केवल छू भी लेते है तो भी वह फट जाता है और अपने आस पास पेट की गन्दगी को तो फैला देता है साथ में जहरीले गैसे भी  नकलते हैं | जो काफी बदबूदार होते हैं और हमारे लिए तो एक जहर के बराबर होते हैं| अपने कभी सोचा था कि ऊंट मरने के बाद एक बम भी बन सकता है मेरे ख्याल से आप में से कोई भी सी बात को नहीं जनता होगा, मगर यह बात सच है | कई बार ऐसा हो भी चूका है | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

दोस्तों यु तो रेगिस्तान में ऊंट सदियों से रहते हैं उन्हें रेगिस्तान में उन इलाकों में भी पानी ढूंढने आता है जहाँ इंसान या कोई और प्यास से मर जाता मगर आज मवेशियों के कारण धीरे धीरे ऊंट की प्रजाति अपने इस हुनर को खो रहे है और बदलते ज़माने के साथ लगभग सभी ऊंट अपने मालिक के ऊपर निर्भर हो गए अब जब उनका मालिक उनको पानी पिलाता है तब ही वो पानी पी पाते हैं नहीं तो प्यासे रह जाते हैं | 

दोस्तों कभी कभी ऐसे हालात हो जाते हैं कि पूरे रेगिस्तान में पानी का एक कतरा तक नहीं मिलता और मवेशी खुद को पानी पीने के लिए भी पानी जुटा नहीं पाता है | आखिर में वो ऊंट जो अपने हुनर को खो चुके हैं प्यासे रह जाते हैं कई दिनों तक पानी नहीं मिलने के कारण अपनी जान गवा देते हैं पानी के तलाश में वो इधर उधर घूमते तो हैं मगर सुनसान ताप्ती हुए गर्मी में खो कर रह जाते हैं | और कभी कभी तो प्राण भी त्याग देते हैं | और दोस्तों यही ऊंट मरने के बाद इतना खतरनाक बन जाता है | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

तो चलिए हम ऊंट से जुड़े कुछ फैक्ट्स बताते हैं इनमे से आप कुछ जानते होंगे और कुछ आपको रोमांचक भी लगेगा | 

ऊंट को इंग्लिश में Camel कहते हैं यह अरबी का शब्द है जिसका अर्थ खूबसूरती होता है | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel
Camel Running

ऊंट को देखने से लगता है कि वो जल्दी जल्दी नहीं दौड़ सकते हैं लेकिन असलियत में उनकी क्षमता एक घंटा में 40 मील दौड़ने की है यह दूसरी बात है कि ये ज्यादा देर तक स्पीड को नहीं रख पाते हैं और ज्यादातर 25 मील प्रति घंटा चला करते हैं | 

दोस्तों आपको पता है ऊंट के बिहेवियर में एक हरकत ये भी शामिल है कि वो हम इंसानों की तरह थूकते भी हैं हाँ दोस्तों ऊंट अक्सर थूका करते हैं | कभी कभी तो लोगों के ऊपर भी थूक देते हैं | मुझे तो इस बात पर बहुत हँसी आती है मगर दोस्तों वो मजे के लिए नहीं बल्कि खुद को बचाने के लिए थूकती है जब भी इन्हें इंसानो से खतरा महसूस होता है तब वह उन पर जोर से थूक कर डराना चाहते हैं | 

विटामिन की खोज ,प्रकार,स्रोत एंव कमी से होने वाले रोग 

हम अक्सर सुनते आए है कि ऊंट के कूबड़ में ढेर सारा पानी जमा होता है जिसे हम पी भी सकते हैं और दोस्तों इस फैक्ट्स के पीछे एक बहुत ही दर्दनाक सच है दोस्तों रेगिस्तान में कई बार पानी न मिलने से लोग ऊंट को मार देते हैं और उसके कूबड़ से पानी निकलने की कोशिश करते हैं और आखिर में उन्हें पानी नहीं मिलता है बेचारा ऊंट भी मारा जाता है | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

जब एक ऊंट का बच्चा पैदा होता तब उसके पीठ पर कूबड़ नहीं होता है लकिन जैसे जैसे वह बच्चा बड़ा होने लगता है खाना खाने लगता है उसका भी कूबड़ निकल आता है | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

दोस्तों ऊंट के ओंठ इतने मोटे होते है कि वो रेगिस्तान में पाए जाने वाले काँटों को भी आसानी से खा लेते हैं और उनको चोट भी नहीं लगती | अगर यही दुनिया के किसी दूसरे प्राणी को देखा जाय तो वो कभी कैक्टस को नहीं खा सकते हैं | क्योंकि यह एक कटीला पौधा होता है जिससे सभी के हाथे कट जाती है | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel
जंगली प्रजाति वाइल्ड बटेरियन

दोस्तों ऊंट की एक जंगली प्रजाति भी है जिसे वाइल्ड बटेरियन के नाम से जाना जाता है | इस प्रजाति के ऊंट काफी मजबूत माने जाते हैं शायद यही कारण है कि इस प्रजाति के ऊंट को आज तक किसी ने भी घर पर नहीं पाला और यह दुर्भाग्य की बात है कि इनकी संख्या अब 1000 से भी कम बची है | इस प्रजाति के ऊंट ईस्टर्न एशिया में पायी जाती है | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

आबू दाबे दुबई में आपको कामल शाके भी  पीने को मिलता है जो असली ऊंटनी के दूध से बनाई जाती है और उतनी ही दूध में बहुत ही ज्यादा  मात्रा में  विटामिन C भी मिलता है | कई देशों में ऊंट के दूध से टीवी का इलाज भी होता है उनमें से एक है कजाकिस्तान | 

दोस्तों एक ऊंट की लम्बाई कूबड़ के साथ सात फुट तक पहुँच सकती है  और उनका वजन 1500 पाउंड तक भी जा  सकता है | 

एक ऊंट का जीवन काल 40 – 50 साल तक होता है | 

दोस्तों ऊंट को देखकर ही लगता है कि उसे खास रेगिस्तान में चलने के लिए ही बनाया गया हो अब जब आप उनके आँखों को देखेंगे तो आपको पता चलेगा की ऊंट के आँख में तीन पलकें होती है और पपनिया भी | जो रेत को आँखों के अंदर जाने से रोकता है और यही वजह है कि रेगिस्तान के बड़े बड़े से बड़े तूफान में ऊंट डटकर खड़े रहते हैं | 

Yours Opinions

साउथ अफ्रीका के केनिया में ऊंट किताबों को पहुँचाने का काम भी करते हैं जिन इलाकों में किताब की जरूरत होती है उन इलाको में ऊंट के सहारे किताबों को पहुँचाते हैं | 

एक ऊंट के बाल बहुत ही घने होते हैं जो सूरज के रौशनी को चमड़ी तक पहुँचाने नहीं देते है इसलिए इतनी ताप्ती धुप से भी  नहीं होता है | 

तो ये थी ऊंट के बारे में कुछ दिलचस्प बाते जिस हम आपको बताना चा रहे थे  और क्यों कहा जाता है कि मरे हुए ऊंट को नहीं छूना चाहिए तो हमें आशा है कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे और  आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आयी होगी | अगर अच्छी लगी हो तो comment में अपनी राय जरूर दे और अपने दोस्तों में भी शेयर करे | 

15 Amazing Facts In Hindi About Camel

People Also Read

3 thoughts on “15 Amazing Facts In Hindi About Camel | मरे हुए ऊँट के बॉडी को छूने से क्यों माना किया जाता है ?”

Leave a Comment

What is Ullu App and How to Watch Ullu Web Series for Free Battlegrounds Mobile India 2.2 update is getting linked What is GB WhatsApp : Is it safe for you or not Cuco Honors Hispanic Heritage Month With New Spanish Version Of “Aura” Lil Baby Samples Tears For Fears On New Song “The World Is Yours To Take”